ePrivacy and GPDR Cookie Consent by Cookie Consent Who Is The Owner Of Apple In Hindi | Apple Company Ka Malik Koun Hai ?

Who Is The Owner Of Apple In Hindi | Apple Company Ka Malik Koun Hai

आज का ये जबरदस्त पोस्ट उन लोगो के लिए सबसे इंपोर्टेंट है जो ये जानना चाहते हैं कि, Apple कंपनी का मालिक कौन है ( Who is the owner of apple )? इसके साथ साथ आज के इस पोस्ट में आपको ये भी पता चलेगा कि, ये कंपनी किस देश की है?

पूरे विश्व में Apple की Iphone को सबसे सिक्योर और महंगा फोन माना जाता है। जिस भी व्यक्त के पास ये फोन होता है उसे लोग ऊंची नजर से देखते हैं। Apple कंपनी यहीं तक सीमित नहीं है बल्कि Apple अपनी Mackbook, Airpods और Ipad आदि भी बेचता है।

यहीं वो सारे कारण है जिस कारण Apple कंपनी इतनी बड़ी है और जिसके पास भी इनके प्रोडक्ट्स रहते हैं उन्हें लोग क्यों बड़े नजरिए से देखते हैं। एक सर्वे के अनुसार एप्पल कंपनी के प्रोडक्ट्स जिनके पास होते हैं उनका ये मानना है कि, वो जब भी अपने ये प्रोडक्ट्स बाहर ले कर जाते हैं तो उनका रुतबा और इज्जत काफी बढ़ जाती है। वो ओवर कॉन्फिडेंस हो जाते है। इसलिए कभी कभी चोर इनके कीमती प्रोडक्ट को चुरा कर खुले बाजार में भी चोरी कर लेते हैं।

खेर, अब चलिए आपको ये बताते हैं कि Apple कंपनी का मालिक कौन है और ये कंपनी किस देश की है?

Apple Ka Malik Koun Hai ?

Apple Company Ka Malik Koun Hai
Apple Company Ka Malik Koun Hai

आपको बता दें कि, Apple कंपनी की शुरुआत किसी एक आदमी ने नही बल्कि 3 लोगो ने मिलकर की थी। कई लोग आज भी थी सोचते हैं की Apple कंपनी को सिर्फ 2 लोगो ने मिलकर खोला था। लेकिन ऐसा भी था, बल्कि दुनिया के सबसे बदनसीब इंसान Ronald Wayne ने Apple कंपनी का 10% हिस्सा छोर दिया था। आज अगर उस 10% हिस्से की दाम पूछी जाए तो वह 5 लाख करोड़ होते हैं। उन्होंने अपने 10% का हिस्सा सिर्फ 800 डॉलर में बेच दिया था।

उनसे जब इसका खास कारण पूछा गया तो वो ये बताते हैं कि, मैने आपसी संबंध को ध्यान में रखते हुए 10% का हिस्सा बेचा था। उन दिनों स्टीव जॉब्स और रोनाल्ड वेन की पटती नही थी। एक इंटरव्यू में रोलैंड वेन ने बताया कि वो उन दिनों 22 हजार डॉलर कमाया करते थे। कम्पनी छोड़ने के बावजूद स्टीव और वॉजनिएक- रोनाल्ड ( Apple कंपनी का तीसरा संस्थापक ) उन्हे बुलाते रहे लेकिन वो नहीं आए। उस समय रोलैंड 45 वर्ष के थे, स्टीव जॉब्स 21 साल और वॉजनिएक- रोनाल्ड 25 साल के थे।

Apple कंपनी की शुरुआत 1 अप्रैल 1976 को हुई और ये कंपनी शुरू से ही प्रॉफिट में नही रही। इसके अलावा इस कंपनी को कोई बड़ा ब्रांड वैल्यू नही था। लेकिन साल 2007 वो साल था जिसने Apple कंपनी के वक्त बदल दिए, जज्बात बदल दिए। यही वो साल था जब स्टीव जॉब्स की कंपनी ने स्मार्टफोन इंडस्ट्रीज में कदम रखा। हालाकि, आपको बता दे की अब स्टीव जॉब्स नही रहे। उनकी मृत्यु कैंसर की वजह से साल 2011 पांच अक्टूबर हुई थी।

स्टीव जॉब्स को एक बार तो Apple कंपनी की प्रॉफिट को न देखते हुए कंपनी ने उन्हें CEO के पोस्ट से भी निकालने की नोटिस जारी कर दी। लेकिन एक बार फिर स्टीव ने अपने काबिलियत और हौसला को कायम रख कर Apple Industries में CEO के तौर पर कदम रखा। इस बार स्टीव ने वही गलती नही दोहराई जो वो कर चुके थे। Apple ने स्टीव के कहने पर Computer की दुनिया को छोर Smartphone में कदम रखा और अपना पहला Iphone बेचा। ये फोन इतना बिका इतना बिका की स्टीव और उनकी कंपनी का हौसला तो बढ़ा ही साथ साथ उन्होंने फिर कभी पीछे मुड़ के भी देखा।

यही वो कारण था जिसकी वजह से Apple कंपनी आज इतने पर मुकाम पर मौजूद है। इस वक्त Apple को कंप्यूटर इंडस्ट्रीज में Microsoft बिलकुल भी जगह नहीं दे रहा था। Apple के इतने अच्छे प्रोडक्ट्स के कारण लोगो ने इनके Laptops, PC आदि चीज़े खरीदना भी शुरू कर दीं।

हालाकि, फिलाल Apple के PC या Laptop Microsoft के सॉफ्टवेयर को तो टक्कर नही दे सकती हैं लेकिन Apple में खास बात थी है की वो अपना खुद का सिक्योर सॉफ्टवेयर बनाता है और अपने ही खुद के प्रोडक्ट में उसे इस्तेमाल करता है। इसलिए सिक्योरिटी के मामले में अगर आप कोई भी स्मार्टफोन या लैपटॉप खोज रहे हैं तो आप आंख बंद कर इनके प्रोडक्ट्स ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते हैं।

Android भी कम नही था। इसने भी मार्केट में जोर शोर से चढ़ाई की। आज कल तो एंड्रॉयड डिवाइस ही दुनिया में सबसे अधिक पॉपुलर हैं। अगर आप APK, Files और खुली जिंदगी अपने फोन में लेना चाहते हैं तो आप Andorid के अलावा किसी के तरफ न जाए। क्या आपको Andorid के ऊपर भी जानकारी चाहिए? अगर हां तो हमे कॉमेंट कर प्रोसाहित करे।

ये तो हमने आपको Apple कंपनी के कुछ खास जानकारियां यानी कुफिया बाते बताई। अब हम आपको ये बताते हैं की Apple Company Kis Desh Ki Company Hai?

Apple Kis Desh Ki Company Hai ?

जैसा की हमने आपको बताया कि, Apple कंपनी के मुख्य फाउंडर स्टीव जॉब्स थे। स्टीव जॉब्स एक अमेरिकी नागरिक थे। अमेरिकी नागरिक होने के कारण Apple कंपनी भी एक अमेरिकी कंपनी है।

Conclusion

अगर आपको हमारा ये पोस्ट “ Apple Company Ka Malik Koun Hai Aur Ye Kis Desh Ki Company Hai ” पसंद आया तो आप हमारे साथ जरूर जुड़े रहे क्योंकि हम आपको कुछ इसी प्रकार की जानकारियां देते हैं।

Share Post To Your Friends
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.